Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 3, अंक 45, सितम्बर(द्वितीय) , 2018



चिंतन


नवीन कुमार भट्ट


 
समय होता
कीमती मूल्यवान
कर चिंतन।।१

क्रोध हरण
करता जयगान
फल चिंतन।।२

देता शरण
रहता विद्यमान
मन चिंतन।।३

बनाता काम
भरता अरमान
रति चिंतन।।४

क्रोधित मन
चिंतन का विषय
जब नकारे।।५
         

कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें