Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 3, अंक 44, सितम्बर(प्रथम) , 2018



नई कविता


सुशील शर्मा


     
नई कविता नई कहानी 
नयी व्यंजना नयी सर्जना नई जुबानी। 
भाषा की बुनियादी समस्याएं। 
प्रश्नानुकूल साहित्यिक चिंताएं।  
व्यक्तित्व की खोज ,अस्मिता की तलाश। 
लक्षणाएँ और व्यंजनाएँ लगभग उदास। 
बौद्धिकता, आत्म-सजगता के राग।  
परम्परा-आधुनिकता और  मौलिकता, के भाग। 
साहित्य में जटिल संवेदना की चुनौती। 
गहन चेतना,और सर्जनात्मकता की मनौती। 
नयी राहों और  सम्प्रेषण की खोज। 
शब्द संस्कार और ध्वनियाँ का ओज। 
नवीन कथ्य और भाषा-शिल्प समेटे। 
अनिर्वचनीय सौन्दर्य की सिहरन लपेटे। 
सर्वनामों से जीवन-विस्तार को नापते  कवि-बिम्ब। 
आभिजात्य के दम्भ को पछाड़ते निरालम्ब। 
सौन्दर्यवाद,प्रतीकवाद,अस्तित्ववाद 
नये प्रयोग, नयी संवेदना और नए विवाद। 
नई कविता ,नई कहानी में रीति अमान्य है। 
छंद ,लय और भाषा के मानक सामान्य हैं।
 

कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें