Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 3, अंक 44, सितम्बर(प्रथम) , 2018



देखिये


लक्ष्मी नारायण गुप्त


                          
तेल देखिये
तेल की धार देखिये ।
कहीं किसी की जीत
कहीं हार देखिये ।
संगठन में शक्ति है
जानते सभी
समूह क्या चाहता 
सार देखिये ।
बहुमत से दूर दल
जोड़-तोड़ में लगें
कमजोर लोकतंत्र का
उपहार देखिये ।

राजनीतिक जातियां
वर्ग और प्रजातियां
सब सज्जित शस्त्र से
हथियार देखिये ।
बौद्ध, जैन, शाक्त. शैव
अनेकता में एकता
फूट डाली किसने 
इतिहास देखिये ।

कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें