Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 3, अंक 44, सितम्बर(प्रथम) , 2018



धरती पुत्र किसान


डॉ.प्रमोद सोनवानी पुष्प


     
देश की संतान है ।
भारत माँ की शान है ।।
अन्न का करता दान है ।
धरती पुत्र किसान है ।।

मिट्टी को महकाता है। 
धरती को सजाता है ।।
अन्न खूब उपजाता है ।
धरती पुत्र कहलाता है ।।
	 

कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें