Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 3, अंक 46, अक्टूबर(प्रथम) , 2018



अजब सलोना गाँव


डॉ.प्रमोद सोनवानी पुष्प


                         
अजब सलोना 
सबसे प्यारा ।
गाँव हमारा भाई ।।

मस्त मगन हो 
पंक्षी नभ में ।
उड़ रहे हैं भाई ।।

हरी घाँस है 
मखमल जैसी ।
चहुँ दिशा में हरियाली ।।

चहक रही है 
डाल - डाल में ।
कोयल काली - काली ।।
 

कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें

bppandey20@gmail.com