Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 2, अंक 40, जुलाई(प्रथम), 2018



विरासत


अभिषेक कांत पाण्डेय


 
कई बार चुनाव जीते

हर बार आ बैठे घोसले में

बच्चों को सिखाया

राजनीति के दाव-पैंतरे

क्योंकि उनके बाद उन्हें संभालनी थी
विरासत की सत्ता

क्योंकि देश को चलना था

वंशों की बैसाखी पर।

कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें