Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 2, अंक 40, जुलाई(प्रथम), 2018



कमला घटाऔरा


हाइकु


1.
पेट की भट्ठी अनाज का इंधन जले तो शक्ति ।
2.
जल जीवन बिन मिले तड़पे मच्छी सा जीव ।
3.
तन में प्राण हवा के ही कारण साँस लें जियें ।
4.
नैनन दीप अनमोल खजाना छिने अँधेरा ।
5.
व्यर्थ संगीत सुन न पाये कोई कर्ण विहीणा ।
6.
ऐसी रचना पंच तत्वों की बनी विश्व विस्मित ।
7.
मधुर गीत अंतर से प्रस्फुटित सात सुरों के ।
8.
गगन बाँचे हर पल बंदे का आठों पहर ।
9.
सागर तल बैठा छुपाये पीर नदी जो लाई ।
10.
धरा की गोद हँसे खेले जीवन प्रकृति संग ।

कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें