Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 3, अंक 52, जनवरी(प्रथम) , 2019



आगरा के डॉ दिग्विजय शर्मा को अंतरराष्ट्रीय क्रान्तिधरा के
साहित्यिक महाकुम्भ में मिला " क्रान्तिधरा मेरठ साहित्य श्री सम्मान"


मेरठ में चल रहे 10,11,12 दिसम्बर 2018 त्रिदिवसीय क्रांतिधरा मेरठ साहित्यिक महाकुंभ में आज क्रांतिधरा साहित्य अकादमी की तरफ से आगरा के शिक्षाविद, वरिष्ठ साहित्यकार, समाजसेवी, पत्रकार डॉ दिग्विजय शर्मा को साहित्य और सामाज के विशेष योगदान के लिए 'क्रान्तिधरा मेरठ साहित्य श्री सम्मान' से सम्मानित किया गया। ज्ञात रहे यह आयोजन मेरठ लिटरेरी फेस्टिवल के अध्यक्ष डॉ विजय पंडित, पूनम पंडित के अथक प्रयासों से साकार होने वाले तीन दिवसीय "मेरठ साहित्यिक महोत्सव" में लगभग दस देशों से आये साहित्य साधकों ने अपनी सहभागिता से कार्यक्रम को ऐतिहासिक उंचाई प्रदान की। जिसमें मुख्य अतिथि अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद नई दिल्ली से प्रो ए के मित्तल , मुख्य वक्ता नेपाल से श्री बसंत चौधरी, सन्त रेग्मी, श्वेता दिप्ती, अनिता, नॉर्वे से डॉ शरद आलोक शुक्ला, रूस से डॉ मीनू शर्मा, भूटान से छत्रपति फुएल, बांग्लादेश से डॉ अफ़रोज़, उत्तराखण्ड से साहित्य अकादमी पुरस्कार विजेता डॉ योगेश शर्मा 'अरुण', एडवोकेट गोपाल नारसन, दिल्ली से वरिष्ठ साहित्यकार लक्ष्मी शंकर वाजपेयी, वरिष्ठ साहित्यकार कवि कुंवर बेचैन तथा आई आई एम टी यूनिवर्सिटी मेरठ के कुलपति डॉ योगेश मोहन गुप्ता, मेरठ के कवि गजलकार सत्यपाल 'सत्यम' वेस्ट बंगाल से कुंवर वीरसिंह 'मार्तंड', अंतरराष्ट्रीय एथलीट लखनऊ, से दिनेश शर्मा मुख्य रूप से अतिथि के रूप में उपस्थित रहे साथ ही आयोजन समिति के सदस्य डॉ. राम गोपाल भारतीय, सुमनेश सुमन, डॉ ब्रह्मानन्द अवधूत, सुनील कुमार शर्मा, डा. गौरव पाठक, डॉ मीनाक्षी कहकसा, प्रशांत कौशिक, पूनम पंडित, मधुर शर्मा, मीनाक्षी शर्मा, एडवोकेट चित्रा सिंह, लक्ष्मी शर्मा, सुरेखा शर्मा, डॉ राजीव पांडेय, अभिषेक पाण्डेय, अमन तिवारी, सूर्यकरन सोनी अन्य सम्मानित सदस्यों के साथ उपस्थित रहे आयोजन में अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय साहित्यकार उपस्थित रहे , देश भर के सभी प्रांतों से दिल्ली, सिक्किम, महाराष्ट्र, उत्तराखण्ड,वेस्ट बंगाल, गोवा, उड़ीसा, मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश आंध्रप्रदेश, कर्नाटक, राजस्थान अन्य सभी देशों से आये गणमान्य ख्यातनाम पांच हजार साहित्यकारों की उपस्थिति में अनवरत साहित्य साधना,सामाजिक अवदान, समर्पण एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर निरन्तर साहित्य साधना के लिए वैश्विक स्तर पर लाखों पाठकों द्वारा पसंद किये जाने पर आगरा के साहित्यकार डॉ दिग्विजय शर्मा को इस समारोह में अपनी ओजस्वी वाणी में कवितापाठ करने व अपनी पुस्तक के विमोचन के अवसर पर त्रिदिवसीय साहित्य के भव्य समारोह में आगरा का नाम रोशन करने पर क्रांतिधरा साहित्य अकादमी मेरठ द्वारा आईआईएमटी विश्वविद्यालय सभागार में माल्यार्पण व प्रशस्ति पत्र एवं प्रमाणपत्र देकर सम्मानित किया गया।


कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें