Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 2, अंक 30, फरवरी(प्रथम), 2018



परिचय


डा श्रीगोपाल नारसन एडवोकेट


 
01. नाम ःडा श्रीगोपाल नारसन एडवोकेट
02. पिता का नाम ः स्व. श्री मदनलाल शर्मा
03. जन्मतिथि ः 28-05-1964
04. पता ः मकान न. 1043, गीतांजलि विहार,
गणेशपुर रुड़की, जनपद हरिद्वार,
उत्तराखंड।
05. दूरभाष सम्पर्क ः 9412072417, 9997809955
06shreegopalnarsan@mail.com
07. शैक्षिक योग्यता ः कला व विधि स्नातक, पत्रकारिता
    डिप्लोमा, विद्या वाचस्पति मानद, विद्या
    सागर मानद।
08. व्यवसाय ः वकालत, राज्य उपभोक्ता आयोग।
09. प्रकाशित पुस्तकें ः हिन्दी साहित्य में बारह पुस्तकें
प्रकाशित जिनमें नया विकास,
चैकपोस्ट, मीडिया को फांसी दो, प्रवास,
तिनका-तिनका संघर्ष, खामोश हुआ
जंगल, पद्चिन्ह, मैं विद्योत्तमा, सतपाल
महाराज और उनका गांधी दर्शन,
बादशाह गश्त पर है, श्रीगोपाल
नारसन और उनका हिन्दी साहित्य, आबू
तीर्थ महान, अविस्मरणीय संस्मरण
(प्रकाश्य)।
10. सेवा कार्य ः उपभोक्ताओं को जागरूक करने के लिए
गत 25 वर्षों से उपभोक्ता जागरूकता
अभियान जारी है, जिसके तहत विभिन्न
शिक्षण संस्थाओं व विधिक सेवा
प्राधिकरण के शिविरों में निःशुल्क
उपभोक्ता जागरूकता व उपभोक्ता
कानून की जानकारी देना। चरित्र निर्माण
शिविरों का कईं वर्षों तक संचालन,
पत्रकारिता के माध्यम से सामाजिक
कुरीतियों व अंधविश्वास के विरूद्ध
लेखन के साथ-साथ साक्षरता, शिक्षा व
समग्र विकास का चिंतन लेखन।
11. खेल ः राज्य स्तर पर मास्टर एथेलिट के रुप
    में 5000 मीटर पैदल चाल में सन 2003
में स्वर्ण पदक व 800 मीटर दौड़ में
कांस्य पदक तथा नेशनल मास्टर
एथेलिट चैम्पियनशिप में भागीदारी,
नेशनल स्वीमिंग चैम्पियनशिप में
भागीदारी।
12. सम्मान ः राष्ट्रीय दलित साहित्य अकादमी द्वारा
डा. अम्बेडकर नेशनल फैलोशिप,
सहारा परिवार द्वारा प्रेरक व्यक्तित्व
सम्मान, विक्रमशिला हिन्दी विद्या पीठ
भागलपुर, बिहार द्वारा अपना सर्वोच्च
सम्मान भारत गौरव, नई दिल्ली पंचवटी
साहित्य समिति द्वारा पंचवटी हिन्दी
साहित्य सेवा सम्मान, उज्जैन के मौन
तीर्थ फाउन्डेशन द्वारा मानस श्री
सम्मान, प्रजापिता ब्रहमाकुमारी ईश्वरीय
विश्वविद्यालय माउंट आबू द्वारा स्पीकर
के रुप में सम्मानित
  
www.000webhost.com

कृपया अपनी प्रतिक्रिया sahityasudha2016@gmail.com पर भेजें