Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 3, अंक 42, अगस्त(प्रथम) , 2018



हाईकु


प्रजापति गुरुदेव


                        
1.
बूंदो के साथ गुल मिल गया है रेईनकोट
2.
खाना ढूंढने बारिश में निकले रेईनकोट
3.
नई दुल्हन बारिश में लगता रेईनकोट
4.
जिंदा हो उठा बारीश को छूकर रेईनकोट
5.
चलता फिरे आदमी को पहने रेईनकोट
6.
निकल पडा सीने में लिये दर्द रेईनकोट
7.
भीगे बदन बूंदों में बह रहा रेईनकोट
8.
घनी बारीश ढूंढ रहे मेंढक रेईनकोट.

कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें