Sahityasudha view
साहित्यकारों की वेबपत्रिका
मुखपृष्ठ


साहित्यकारों की रचना स्थली

वर्ष: 2, अंक 35,  अप्रैल(द्वितीय) , 2018



भोजपाल साहित्य संस्थान की मासिक काव्य गोष्ठी का आयोजन संपन्न


प्रियदर्शी खैरा
अध्यक्ष भोजपाल साहित्य संस्थान
चूना भटटी , भोपाल


  

भोजपाल साहित्य संस्थान , भोपाल की मासिक साहित्यिक गोष्ठी की श्रंखला के अंर्तगत दिनांक 30 मार्च 2018 को रचना पाठ का आयोजन भोपाल के भोपाल हाट स्थित 9 एम मसाला रेंस्तरां परिसर में किया गया। कार्यक्रम संस्था के कार्यकारी अध्यक्ष श्री सुदर्शन कुमार सोनी की अक्ष्यक्षता वरिष्ठ साहित्यकार श्री सुरेश कुशवाहा के मुख्य आतिथ्य व घनष्याम मैथिल के विषेश आतिथ्य में हुआ। कार्यक्रम मे लगभग पच्चीस रचनाकारों ने अपनी गद्य व पद्य रचनाओं का पाठ किया। वरिष्ठ व्यंग्यकार श्री वीरेन्द्र जैन , श्री गोकुल सोनी , श्री ओ पी द्विवेदी , दीपक पगारे , गीतकार श्री अशोक निर्मल , गजलकार डाक्टर विमल शर्मा , गजलकार फरमान जियाई सुश्री ओरीना , कवि श्री चरनजीत कुकरेजा , तथा अन्य साहित्यकार व साहित्य प्रेमी उपस्थित थे। सुदर्शन सोनी ने चर्चित व्यंग्य ’बाप बां्रड शख्स’ का पाठन किया जिसे साहित्य प्रेमियों द्वारा सराहा गया। सुरेश कुशवाहा व चन्द्रभान राही द्वारा व्यंग्य लघुकथा ’चैकीदार’ व ’एक कवि की मौत’ का पाठन किया । दीपक पगारे द्वारा ’नही बचा पानी लोगों की बातों मे आंखो में’ श्री वीरेन्द्र जैन द्वारा ’ फासला उनके व मेरे बीच बनता गया ’ फरमान जियाई द्वारा गजल ’पास आने न दे दूर जाने न दे’ जैसी उत्कृष्ट रचनाओं का पाठ किया । अन्य रचनाकारों द्वारा भी अपनी अपनी रचना का पाठ किया गया।

संस्था के कार्यकारी अध्यक्ष सुदर्शन कुमार सोनी द्वारा बडी़ संख्या मे साहित्य प्रेमियों द्वारा उपस्थित होकर कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु आभार माना गया और भविष्य मे इसी तरह सहयोग की आकांक्षा की। कार्यक्रम का संचालन श्री चंद्रभान राही ने किया। आभार प्रदर्शन श्री कमलेश द्वारा किया गया।

कार्यक्रम के अंत मे श्री सुदर्शन कुमार सोनी द्वारा प्रसिद्व व्यंग्यकार श्री सुशील सिद्धार्थ के सोलह मार्च को हुये आकस्मिक निधन को साहित्य समाज की अपूरणीय क्षति बताते हुये उपस्थित साहित्य प्रेमियों द्वारा दो मिनट का मौन रख श्रद्धांजलि अर्पित की गयी ।


कृपया रचनाकार को मेल भेज कर अपने विचारों से अवगत करायें

www.000webhost.com