Sahityasudha view

साहित्यसुधा
साहित्यकारों की वेबपत्रिका

साहित्य की रचनास्थली


वर्ष: 2, अंक 29, जनवरी(द्वितीय), 2018

लेखक या सम्पादक की लिखित अनुमति के बिना पूर्ण या आंशिक रचनाओं का पुनर्प्रकाशन वर्जित है। लेखक के विचारों के साथ सम्पादक का सहमत या असहमत होना आवश्यक नहीं।  सर्वाधिकार सुरक्षित। साहित्यसुधा में प्रकाशित रचनाओं में विचार लेखक के अपने हैं और साहित्यसुधा टीम का उनसे सहमत होना अनिवार्य नहीं है।

साहित्यसुधा एक सम्पूर्णतः साहित्यिक पत्रिका है जिसका उद्देश्य सभी रचनाकारों को प्रोत्साहित करके हिंदी को बढ़ावा  देना है | इसके माध्यम से हिंदी साहित्य की सभी विधाओं को सम्मिलित करने का प्रयास किया जाएगा। साहित्यसुधा

साहित्यसुधा के पाठकों का नववर्ष मंगलमय हो

सम्पादक:- डॉ०अनिल चड्डा

जानें अपनी प्रसन्नता को कैसे बढायें -
पढ़ें डॉ० अशकान फरहादी द्वारा रचित एवँ डॉ० अनिल चड्डा एवँ अन्य द्वारा अनुवादित पुस्तक
"प्रसन्नता का विकास"

सम्पादक की ओर से


"अंतर"

मायावी रात की चादर
तन-मन के इर्द-गिर्द लपेटे
हर रात
उज्जल सपनों में खो जाता हूँ
न जाने कहाँ-कहाँ भटकता
सुख-निद्रा में सो जाता हूँ
एक यही पल तो मेरे बस में है
जिसे जैसे चाहूँ मोड़ लूँ
कुछ न करके भी
सभी खट्टे-मीठे अंगूर
पल भर में तोड़ लूँ
गहराई रात की लंबी पगडंडी को
साफ-साफ देखते हुए पार कर लेता हूँ तो
दूर कहीं क्षितिज़ में
आशा की एक किरण जो दिखाई देती है
वह मन में ऐसा झंझावात सा लाती है
लगता है सब कुछ एक पल में -
एक क्षण में -
पा लूंगा
मैं सारे पर्वत कर्मयोद्धा की तरह
पलक झपकते ही नेस्तनाबूद कर लूँगा
वही किरण
शनै: शनै: जब
आग का गोला बनने लगती है
मेरी ही आशा की किरण होकर
जब मुझ लीलने लगती है
तो एहसास होता है
अपनी असमर्थता का
दिन के उजाले में
घर-घर में, हर गली में, हर मोड़ पर
स्वार्थ-परिता का
जो तांडव होता है
उससे तो यह भास होता है
इन नरभक्षी गिद्धों से अच्छे तो
वो मच्छर ही हैं
जो दंश भी मारते हैं तो
रात की कालिमा में छुप कर
वह भी
अपनी भूख मिटाने को
न केवल रक्त की प्यास बुझाने को
यहाँ तो हर कोई
दिन के उजाले में नंगा ही घूमता है
भूखे को और भूखा करता है
नंगे को और नंगा करता है
अरे अक्ल के दुश्मनों
क्या नोट खाओगे?
क्या सोना चबाओगे?
या ये सब साथ ले जाओगे?
पापी पेट को तो
केवल दो रोटियाँ ही काफी हैं
तन ढांपने को
दो गज़ कपड़ा ही काफी है
क्या यह सब जुटा रहा है
गोदाम-तिजोरियाँ भरने को
या
अंतस में छुपी
आदिमानव सी क्रूरता दर्शाने को
मुझे तो
तुझ में और आदिमानव में
केवल एक ही अंतर दिखाई पड़ता है
उसके पास हथियार थे
तेरे पास दूषित दिमाग
तभी तो हर तरफ लगी है
न बुझने वाली
एक प्यासी आग!

     - डॉ० अनिल चड्डा
साहित्यिक समाचार




रेडियो नाट्य कृति ’’जंग जारी है’’ का लोकार्पण

बेटियों की जंग गर्भ से ही शुरू हो जाती हैः ऋचा चैधरी


....पूरा पढ़ें
अब तक.......


कविता  |  कहानी  |  लघु-कथा  |  आलेख  |   व्यंग्य  | गीत अनूदित-साहित्य  |  नाटक  |  लेखक परिचय  | 
ग़ज़लें   | हाइकु   |  हिन्दी ब्लॉग  |  दोहे  | पुस्तक समीक्षा  |पुराने अंक| हास्य-कविता |
बच्चों का कोना|

आपके पत्र
अमरेश सिंह भदोरिया - डॉ. पूर्णिमा राय की कविता...... .....पूरा पढ़ें
लक्ष्मीनारायण गुप्त - अमरेश जी की तीनों कवितायें बहुत पसंद आईं...... .....पूरा पढ़ें
अशोक बाबू माहौर - सुंदर एवं पठनीय अंक...... .....पूरा पढ़ें
सविता अग्रवाल "सवि"(केनेडा) - आपने तुरंत ही लिंक भेजा उसके लिए ह्रदय से आभारी हूँ। पत्रिका में आपके द्वारा रचित गीत और कविता पढ़ी मन प्रफुल्लित हुआ।...... .....पूरा पढ़ें
लक्ष्मीनारायण गुप्त - अमरेश जी की तीनों कवितायें बहुत पसंद आईं,...... .....पूरा पढ़ें
ध्रुव सिंह 'एकलव्य' - आज साहित्य का सागर निःसंदेह विस्तृत हुआ है परन्तु यह भी एक कटु सत्य है कि...... .....पूरा पढ़ें
देवी नांगरानी - सहित्यसुधा पत्रीका पाठक को .....पूरा पढ़ें
डॉ० श्रीलता सुरेश - साहित्यासुधा ई-पत्रिका के अक्टूबर (प्रथम) अंक में आनंद दास द्वारा लिखित विश्व हिन्दी सम्मलेन और हिंदी भाषा के बारे में सक्षिप्त टिपण्णी प्रस्तुत है:-....... .....पूरा पढ़ें
हरिहर झा - साहित्य-सुधा के इस अंक में भी.... .....पूरा पढ़ें
मधु संधु - साहित्य सुधा का सितम्बर अंक खोला, पढ़ा और पढ़ती चली गई।.... .....पूरा पढ़ें
सविता मिश्रा - बहुत बढ़िया लघुकथाएँ खासकर पिता की सीख।.... .....पूरा पढ़ें
अमरेन्द्र - साहित्यसुधा का प्रकाशन सराहनीय है।.... .....पूरा पढ़ें
सन्नी शर्मा - सैनिक जीवन पर आधारिक जनक देव जनक की कहानी लौट दो सावन अच्ची लगी!........पूरा पढ़ें
सरिता सुराणा - ' साहित्य सुधा का जून प्रथम अंक पढ़ा , बहुत अच्छा लगा । संपादकीय में ' ताण्डवी निशाचरी को हो रहा अर्पण सवेरा .........पूरा पढ़ें
गुलाब चंद पटेल - June का अंक देखा खुशी हुई. रंगो से सजा हुआ अंक मन भावन हे।.........पूरा पढ़ें
आनंद कुमार सोनी - आपकी ऑनलाइन पत्रिका 'साहित्‍य सुधा' में प्रकाशित लेख ज्ञानवर्धक, रोचक और पठनीय हैं।.........पूरा पढ़ें
इस अंक में
कवितायेँ


1.अमरेश सिंह भदोरिया -

(i)जब नियति परीक्षा लेती है।
2.डॉ०अनिल चड्डा
-

(i)बेशर्मी का जमाना
(ii)प्रेम की कोकिला
(iii)उपेक्षा

3.अर्विना गहलोत -

(i)आज तक
(ii)चुपचाप
(iii)दिल पार्लर जाए ना

4.कवि चंद्र मोहन किस्कू-

(i)पेड़ -लताआेँ के हुल

5.देवी नागरानी -

(i)मुबारक नया साल २०१८

6.डॉ दिग्विजय शर्मा "द्रोण" -

(i)नारी
(ii)पहली मुलाक़ात
(iii)तेरे बिन कुछ नहीं

7.गौतम कुमार सागर -

(i)कैसे लौटे वतन कोई

8. कमलेश यादव -

(i)आओ, दिये हम जलाएँ
(ii)बात

9.कविता गुप्ता -

(i)अब हद से बाहर हर बात !!

10.कुलदीप पाण्डेय आजाद -

(i)हरपल बदल रहा इंसान
(ii)क्रोध
(iii)वृक्षों का उपकार

11.कुमार रवीन्द्र -

(i)नववर्ष की यही दुआएँ

12.डॉ० मधु संधू -

(i)गंगा

13.मनीभाई -

(i)वो बेबाक कवि है

14.मोती प्रसाद साहू -

(i)भीड़
(ii)जमीं मत होना!

15.नरेन्द्र श्रीवास्तव -

(i)स्पष्टीकरण
(ii)तैयारी
(iii)जिज्ञासा

.....कवितायेँ

16.नरेश गुर्जर -

(i)लिखके रखता हूँ
(ii)नया साल
(iii)सिरहाना बनाकर तेरी गोद को

17. डॉ० नवीन दवे मनावत -

(i)मानवता का ह्रास...

18.निकेश कुमार -

(i)नहीं भुला पाता मैं
(ii)यह रोता बच्चा किसका है

19.प्रिया देवांगन "प्रियू" -

(i)नया साल मुबारक हो

20.पुष्पा मेहरा -

(i)हर्ष–हर्ष–हर्ष

21.राहुल जमलोकी -

(i)आज जीना सीख जाते
(ii)खुद को भी तो जाने हम
(iii)तब समझो इंसान बने हम

22.राजेश कुमार शर्मा"पुरोहित" -

(i)नूतन वर्ष

-

(i)अजनबी रास्तों पे...
(ii)प्रेम के सिंदूरी रंग...

24.रश्मि सुमन -

(i)वो रात

25.सपना परिहार -

(i)मुखौटा
(ii)ठिठुरती जिंदगी
(iii)थोड़ा वक्त

26.सौरभ श्रीमान -

(i)स्त्री

27.सुजश कुमार शर्मा -

(i)तुम्हारे प्राण रस में

28.सुनील चौरसिया'सावन' -

(i)मेरी प्यारी माँ

29. सुशील कुमार शर्मा -

(i)जनकवि
(ii)कौन है कृष्ण
(iii)तुम प्रेम में हो

30.विमल शुक्ला -

(i)क्यों बस जीवन ही शेष रहा

ग़ज़लें

1.आलोक यादव -

(i)मौन के आवरण
(ii)भार ढोना चाहता हूँ

2.अमरेश सिंह भदोरिया -

(i)मृग मरीचिका सी चाह

3.डॉ०अनिल चड्डा
-

(i)दर्द से सामना हो गया

4.बृज राज किशोर 'राहगीर' -

(i)कोहरे की रज़ाई से झाँकता सूरज

5.धर्मेन्द्र अरोड़ा "मुसाफिर" -

(i)बहुत रोये हम मुस्कुराने से पहले

6.डा. दिनेश त्रिपाठी `शम्स’ -

(i)दूरियां इस कदर बड़ी मत कर
(ii)हम नहीं डरते
(iii)क्यों उपेक्षित हैं

7.गंगाधर शर्मा 'हिन्दुस्तान' -

(i)मिलेगा खून पीने को सबीलों पे
(ii)समय बड़ा बलवान
(iii)वो जो सबसे हसीन होता है

8. गुलाब जैन -

(i)ग़म की गलियों से गुज़रने के लिए

9.पीयूष कुमार द्विवेदी 'पूतू' -

(i)सब कहते हैं इंसान बड़ा है

10.प्राण शर्मा -

(i)साल नया है

11.पुनीत कुमार -

(i)व्यक्ति आम नही है तू

12.सुभाष पाठक 'ज़िया' -

(i)जीने का हुनर आयेगा

लघुकथायें


1.अमित राज ‘अमित’ -

(i)चयन
(ii)भगवान भला करें

2. नरेश गुर्जर -

(i)सिगरेट के टूकडे़
(ii)स्थिर जीवन

3.सपना परिहार -

(i)माँ का पत्र

4.सुनीता त्यागी -

(i)पुतले का दर्द

हास्य-नाटक


1.दिनेश चन्द्र पुरोहित -

(i)आठवा खण्ड - “मर्द से औरत”


बच्चों का कोना


1.डॉ.प्रमोद सोनवानी पुष्प
-

(i)देखो हाथी आया
(ii)जाड़ा आया

आलेख

1.घनश्याम बादल -

(i)लोहड़ी
(ii)मकर संक्राति
(iii) युवा ही देश को दिशा देंगे!

2.राजेश कुमार शर्मा"पुरोहित"
-

(i)सूर्य उपासना का पर्व - मकर सक्रांति

3. रंजना झा -

(i)बेटी है तो कल है

4. सुशील कुमार शर्मा -

(i)जिन्दा दिखना जरुरी है

कुंडलियाँ


1.पीयूष कुमार द्विवेदी 'पूतू' -

(i)कच्चे-कच्चे दिल हुए...

2.राजपाल सिंह गुलिया -

(i)पैसे बिन संसार में....

शोध-पत्र


1.मोहन पांडेय -

(i)कबीर के साहित्य साधना
 में सामाजिक विमर्श


गीत


1.अमरेश सिंह भदोरिया -

(i)बीत रहा जीवन
(ii)लोग
(iii)नदी सदा बहती रही

2.डॉ०अनिल चड्डा
-

(i)कुछ न करेंगी खामोशियाँ

3.डॉ. दीप्ति गौड़ 'दीप' -

(i)रचें समय का गीत

पुस्तक समीक्षा


1.के. पी. अनमोल -

(i) भोग हुआ यथार्थ है 'चेहरा रिश्तों का'

पुस्तक


1.महावीर उत्तरांचली -

(i)प्रतिनिधि ग़ज़लें

दोहे


1.पीयूष कुमार द्विवेदी 'पूतू' -

(i)दोहे(फेसबुक दोहावली)-...

2.पुष्पा मेहरा -

(i)नए दोहे

3. सुशील कुमार शर्मा -

(i)दोहा बन गए दीप

मुक्तक


1.अमरेश सिंह भदोरिया -

(i)आईना हूँ इसलिए सच बोल रहा हूँ...

व्यंग्य




कहानियाँ


1.डॉ०अनिल चड्डा
-

(i)उपहार

2.दिव्या जैन -

(i)स्वच्छता में सम्पन्नता

3.संजय जैन -

(i)दान की महिमा

4.डॉ.श्रीलता सुरेश -

(i)वृद्धाश्रम

साक्षात्कार


1.गोवर्धन यादव -

अनूदित साहित्य


1.डॉ०अनिल चड्डा -

(...पिछले अंक से)डॉ० रिक लिंडल द्वारा
रचित अंग्रेजी पुस्तक
'The Purpose' का
डॉ० अनिल चड्डा
द्वारा हिंदी अनुवाद
(पढ़ें "अध्याय 4 -
"आप स्वयं अपनी वास्तविकता की रचना करते हैं! ")


ब्लॉग

1.डॉ०अनिल चड्डा -

(क)प्रेम अनुभूतियाँ


(ख)अनिल चड्डा ब्लॉग


2. शोभा जैन -

(क)शोभा जैन ब्लॉग्स


3. सुनील गज्ज़ानी-

(क)सुनील गज्जानी ब्लॉग्स

कृपया रचनाओं पर अपनी टिप्पणी भेजें!

आपका ई-मेल पता :
टिप्पणी:
 
कृपया अपनी रचनाएँ,जो मौलिक होनी चाहिए और यूनिकोड फॉण्ट में टंकित हों, निम्नलिखित
ई-मेल पर भेजें :-

sahityasudha2016@gmail.com
[यूनिकोड फॉण्ट इनस्टॉल करने के लिये यहाँ क्लिक करके डाउनलोड करें]
कुछ अन्य साहित्यिक वेबपत्रिकाएँ

 1.साहित्यकुंज
 2.अनुभूति
 3.काव्यालय
 4.लघुकथा.com
 5.साहित्यसरिता
 6.हिन्दी नेस्ट
 6.सृजनगाथा
 7.कृत्या
 8.हिन्दी हाइकु
 9.सेतु साहित्य

सूचना -

साहित्यसुधा के नए अंकों की सूचना पाने के लिए अपना ई-मेल पता भेजें

Powered by us.groups.yahoo.com

www.000webhost.com